Monday, April 22, 2024

हरिजन आंदोलन

0
परिचय हरिजन शब्द का अर्थ है "हरि की जनता" या "भगवान की जनता"। यह शब्द राष्ट्रपति बी.आर. अम्बेडकर द्वारा दलित समुदाय के लिए प्रयुक्त किया...

असहयोग आंदोलन/नॉन-कॉऑपरेशन मूवमेंट (1920-1922)

0
नॉन-कॉऑपरेशन मूवमेंट/असहयोग आंदोलन (1920-1922) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का एक महत्वपूर्ण चरण था, जो महात्मा गांधी द्वारा नेतृत्व किया गया था। इस मूवमेंट का मुख्य...

खिलाफत आंदोलन

0
"खिलाफत आंदोलन" एक ऐतिहासिक घटना थी जो 1919 से 1924 तक भारत में हुई थी। यह आंदोलन मुस्लिम समुदाय के बीच हुआ था और...

प्रथम आंग्ल- मैसूर युद्ध (1767-1769)

0
प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध (1767-1769) भारतीय इतिहास में एक महत्वपूर्ण घटना थी, जिसमें ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और मैसूर सुल्तान टिपू सुल्तान के बीच युद्ध...

गांधीजी के 11 सूत्री मांग (Gandhiji’s 11 point demand)

0
  महात्मा गांधी (Mohandas Karamchand Gandhi) के ग्यारा सूत्री मांग (Eleven Points) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान अंग्रेज सरकार से की गई थी। इन मांगों...

नील विद्रोह क्या है? और यह विद्रोह किस – किस क्षेत्र में हुआ था?

0
किसान आंदोलन के इतिहास में अपनी मांगो को लेकर किये गये आंदोलन में यह सर्वाधिक व्यापक और जुझारु विद्रोह था।  बंगाल का  विद्रोह शोषण...

 भारत से बहार हुए क्रांतिकारी गतिविधियाँ 

0
कांतिकारियों ने भारत के अलावा विदेशो में भी कई स्थानों पर क्रांतिकारी गतिविदियों को अंजाम दिया। इसमें से कुछ स्थान में  भारत से बहार...

नरम दल और गरम दल (Soft lentils and hot lentils)

0
    नरम दल और गरम दल  दो तरह के विचारधारा  के विभिन्नता  से जनमी  एक सोच थी, जब भारत स्वतंत्रता में ब्रिटिश उपनिवेशों को खदड़ने...

31 अक्टूबर, 1920 को ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (AITUC) (All India Trade...

0
  ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस का इसलिये गठन किया गया था क्योंकि हमारे देश में मजदूरों ने भी आंदोलन संचालित  किया था जिसमे मजदूरों...

हरिपुरा एवं त्रिपुरी संकट क्या है?( What is Haripura and Tripuri crisis?)

0
   हरिपुरा एवं त्रिपुरी संकट क्या है?     हरिपुरा अधिवेशन   हरिपुरा अधिवेशन 1939 में  गाँधी जी और सुभाष चंद्र बोस  जी के मध्य हमें अनबन देखने को मिलती है, वर्ष  1938...