Wednesday, February 28, 2024
HomeHomeझारखण्ड आपदा प्रबंधन योजना

झारखण्ड आपदा प्रबंधन योजना



झारखण्ड
आपदा प्रबंधन योजना


Ø इस योजना के अंतर्गत
अक्टूबर
, 2004  में झारखण्ड राज्य आपदा विभाग का गठन
किया गया है।
  जिसका प्रमुख कार्य आपदा से प्रभावित
व्यक्तियो को त्वरित राहत पहुँचाना है।
 


Ø आपदा के दौरान राहत
कार्य के समुचित संचालन हेतु एक राज्य सरकार की होती है।
 


Ø वर्ष 2009 में  प्रबंधन विभाग द्वारा
राज्य आपदा प्रबंधन योजना तैयार की गई है।

 

Ø राष्ट्रिय आपदा
प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य एवं जिला स्तर पर सभी सभी जिलों में आपातकालीन ऑपरेशन
सेंटर का गठन
   किया जा रहा है  तथा इसे वि – सेट उपग्रह से जोड़ा जा रहा है। 


Ø वर्ष 2005  में देश में राष्ट्रिय आपदा प्रबंधन योजनाओ को तैयार करने, आपदा से बचाव हेतु समुचित उपाय करने, विकास योजनाओ में आपदाओं के निवारण अथवा रोकने के उपायों पर
विचार करने
, निधियों को आवंटित करने, चेतावनी प्रणाली स्थापित करने तथा आपदा प्रबंधन से सम्बंधित
विभिन्न एजेंसियों की सहायता करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है।
 


Ø आपदा के दौरान राहत
एवं बचाव कार्य हेतु राष्ट्रिय स्तर पर वर्ष
2006 
में  राष्ट्रिय आपदा  कार्रवाई बल (NDRF) गठन किया गया है।  इसी प्रकार राज्यों द्वारा राज्य स्तर पर राज्य आपदा कार्रवाई
बल (
SDRF) का गठन किया जाता
है।
 

 

Ø वर्ष 2005  से श्रीकृष्ण लोक प्रशासन 
संस्थान,
रांची द्वारा आपदा केंद्र प्रबंधन का
संचालन किया जा रहा है
जिसका प्रमुख कार्य आपदा के सम्बंधित विभिन्न पहलुओं के
प्रति प्रशिक्षण प्रदान करना है।
  इस संस्थान को राज्य
सरकार द्वारा प्रशिक्षण से सम्बंधित कार्यक्रमों के संचालन हेतु वित्तीय सहायता
प्रदान की जाती है।
 


Ø वर्ष 2015  में राष्ट्रिय आपदा प्रबंधन संस्थान  सहयोग से राज्य में विद्यालय सुरक्षा
कार्यकर्म 
  का संचालन किया  गया है। 

 

Ø आपदा के समय दूर
संवेदन
, कार्टोग्राफी तथा आंतरिक्ष से सम्बंधित
महत्वपूर्ण सूचनाओं को साझा करने हेतु
 
सरकार  द्वारा झारखण्ड स्पेस एप्लीकेशन सेंटर की स्थापना की गयी है। 


Ø राज्य में आपदा की
पूर्व जानकारी तथा इससे जुड़ी समस्याओं की जानकारी एवं उनके प्रभाव को न्यून करने
हेतु
आपदा प्रबंधन ज्ञान – सह – प्रदर्शन
केंद्र 
‘  (सृजन ) विभाग का विकास किया जा रहा है
जिसके लिए बिरसा कृषि विश्वविद्यालय ( सूखा हेतु )
,  भारतीय
खनन स्कुल
, धनबाद ( खनन आपदा हेतु ), बी. आई. टी. मेसरा ( भूकंप हेतु )
तथा जे.सैक. ( बाढ़
, सूखा
एवं जंगल में आग हेतु ) शैक्षणिक एवं तकनीकी कार्यो का संचालन
कर रहे है।
 


Ø मेकॉन, राँची, औद्योगिक आपदा जोखिम
प्रबंधन से संबंधित गतिविधियों को संचालित करती है।
 

——————————————————————————————————-

FOR DETAILED KNOWLEDGE ABOUT APDA PRBANDHAN CLICK BELOW LINK’S

PART —1

झारखण्ड में आपदा प्रबंधन -भूकंप, बाढ़, सूखा, तड़ित, खनन, हाथियों का आक्रमण । (learnindia24hours.com)

———————————————————————————————————–

     PART—2

    झारखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन द्वारा किये जाने वाले व्यवस्था, कार्य और इनके पदों की चर्चा।          (learnindia24hours.com)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments