Tuesday, February 27, 2024
HomeHome16 महाजनपद (बौद्ध धर्म )

16 महाजनपद (बौद्ध धर्म )






16 महाजनपद 


वी शताब्दी ई. पूर्व . अखंड भारत में द्वितीय नगरीकरण प्रारम्भ हो गई। जिसे महाजनपद कहते है। 

बौद्ध ग्रंथ अंगुत्तर निकाय तथा जैन ग्रंथ भगवती सूत्र में 16 महाजनपद की चर्चा है, जो निम्नलिखित है :-


  • गांधार महाजनपद पाकिस्तान में। था  इसकी राजधानी  तक्षशिला शिक्षा  का क्रेन्द्र थी। 
  • अस्मक दक्षिण भारत का एक मात्र महाजनपद था।  जो गोदावरी नदी तट पर था। 
  • उत्तरप्रदेश का मल्ल महाजनपद गणराज्य था।
  •  बिहार का वज्जि महाजनपद  गणराज्य था। 
  •  वज्जि की राजधानी वैशाली में लिच्छिवि गणराज्य शासन था। जो पुरे विश्व का सबसे पुराण गणराज्य है। 
  • सबसे शक्तिशाली महाजनपद मगध महाजनपद था इसका दक्षिण में विंध्याचल पर्वत/ पश्चिमी में सोन नहीं, उत्तर में गंगा तथा पूरब में फाल्गु जैसी नदियाँ इस महाजनपद प्रकृतिक दुर्ग का कार्य करती थी।  
  • मगध महाजनपद पर कुल 7 राजवंशो ने शासन किया। 


  1. हर्यक वंश । 
  2. शिशुनाग वंश। 
  3. नंद  वंश। 
  4. मौर्य वंश। 
  5. शुंग वंश।  
  6. कर्णववंश। 
  7. सातवाहन वंश।  
FOR ALL DETAILS CHAPTER’S YOU CAN GO BLEW THE LINK

www.learnindia24hours.com

https://www.learnindia24hours.com/2021/04/all-facts-about-gotam-budh.html

मुण्डा जनजाति की शासन व्यवस्था क्या है पूरी जानकारी इन हिंदी/Munda Janjati Ki Sasan Vevastha Kya hai?

झारखण्ड का नया राजचिन्ह का विवरण/New logo of Jharkhand state.

झारखण्ड का सामान्य परिचय(General Introduction of Jharkhand) :- भौगोलिक संरचना(Geographical Structure), झारखण्ड ‘ का अर्थ ( Meaning of Jharkhand), जलवायु (Climate), झारखण्ड का भौगोलिक विभाजन (Physical division of Jharkhand), कृषि एवं सिंचाई व्यवस्था(Agriculture and Irrigation System) ,खनिज संसधान ( Mineral Resources), पशु संसाधन (Cattle Resources), उधोग – धंधे( Industries), पर्यावरण (Environment), जनसँख्य की स्थिति( Population)    


EDUCATION SYSYTEM IN JHARKHAND/झारखण्ड में शिक्षा का विकाश। – learnindia24hours


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments