Tuesday, June 25, 2024
HomeHomeImportant Governor-General and Viceroy of India

Important Governor-General and Viceroy of India


भारत के महत्त्वपूर्ण
गवर्नर-जनरल एवं वायसराय तथा उनसे संबंधित महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

वारेन
हेस्टिंग (1772
1785)

Þ  
1773 रेगुलेटिंग एक्ट अधिनियम पारित
किया गया जिसके द्वारा बंगाल के गवर्नर को बंगाल का गवर्नर जनरल बना दिया क्या इस
तरह वारेन हेस्टिंग बंगाल के अंतिम गवर्नर तथा बंगाल के प्रथम गवर्नर जनरल बने ।

Þ  
1773 रेगुलेटिंग एक्ट के तहत लॉर्ड
क्लाइव के द्वारा स्थापित बंगाल में द्वैध शासन प्रणाली को समाप्त कर दिया गया।

Þ  
इसी नियम के द्वारा कोलकाता में 1774
ईसवी में एक सर्वोच्च न्यायालय या स्थापना किया गया और इसके पहले मुख्य न्यायाधीश एलिजा
ईम्बे को नियुक्त किया गया

 

Þ  
वर्ष 1775-82 तक प्रथम मराठा युद्ध हुआ
था।

Þ  
वारेन हेस्टिंग के शासन काल में मुस्लिम
शिक्षा के लिए 1781 ईस्वी में कोलकाता में एक मदरसा की स्थापना किया गया

Þ  
1782 में सालबाई की संधि

Þ  
जोनाथन डंकन के प्रयास से 1782 ईस्वी
में बनारस में एक संस्कृत कॉलेज की स्थापना किया गया

Þ  
1784 इसवी में सर विलियम जॉन्स के
द्वारा एशियाटिक सोसाइटी ऑफ़ बंगाल की स्थापना किया गया

Þ  
इन्हीं के शासनकाल में रेगुलेटिंग
एक्ट की कमियों को दूर करने के लिए 1784 इसवी में पिट्स इंडिया एक्ट पारित किया गया।

 

 

लार्ड
कार्नावलिस (1786
-1793)

Þ  
कार्नावलिस को सिविल सेवा का जनक कहा
जाता है क्योंकि भारत में सिविल सेवा कि नीव इन्हीं के द्वारा रखा गया था

Þ  
बंगाल का स्थायी बंदोबस्त 1793 लागू
किया गया था।

Þ  
तीसरा मैसूर युद्ध (1790-92) और
श्रीरंगपट्टम की संधि (1792)

 

लॉर्ड
वेलेजली (1798-1805)

Þ  
इन्हें सहायक संधि का जनक कहा जाता
है । सहायक संधि स्वीकार करने वाला पहला राज्य हैदराबाद था जिन्होंने 1798 ईस्वी
में इस पर हस्ताक्षर किया

Þ  
चौथा मैसूर युद्ध (1799)

Þ  
दूसरा मराठा युद्ध (1803-05)

 

लॉर्ड
मिंटो
-I (1807-1813)

Þ  
इन्हीं के शासनकाल में पंजाब के
महाराजा रंजीत सिंह एवं अंग्रेजी सेनापति चार्ल्स मेटकाफ के बीच 1809 ई में अमृतसर
की संधि हुई थी

 

लॉर्ड
हेस्टिंग्स (1813-1823)

Þ  
लॉर्ड हेस्टिंग्स के काल में ही 18
से 13 ईसवी का चार्टर एक्ट पारित किया गया। इस अधिनियम के द्वारा भारतीयों के
शिक्षा सहित एवं विज्ञान की प्रगति के लिए प्रति वर्ष 1लाख रुपए खर्च करने का
प्रावधान किया गया।

Þ  
एंग्लो-नेपाल युद्ध (1814-16) 

Þ  
सुगौली की संधि, 1816

Þ  
तीसरा मराठा युद्ध (1817-19)

Þ  
रैयतवाड़ी प्रणाली की स्थापना (1820)

 

लॉर्ड
एमहर्स्ट (1823-1828)

Þ  
पहला बर्मा युद्ध (1824-1826)

 

 लॉर्ड
विलियम बेंटिक (1828-1835)

Þ  
इन्हीं के शासनकाल में 1833 ईस्वी का
एक एक अधिनियम पारित होता है जिसके द्वारा बंगाल के गवर्नर को भारत का गवर्नर जनरल
बना दिया गया ।

Þ  
इस तरह लॉर्ड विलियम बैंटिक बंगाल के
अंतिम गवर्नर जनरल और भारत का पहला गवर्नर जनरल बनाया गया

Þ  
इन्हीं के शासनकाल में राजा राममोहन
राय के प्रयास से 1829 ईस्वी में सती प्रथा को अवैध ठहराते हुए प्रतिबंध लगा दिया
गया

Þ  
लॉर्ड विलियम बेंटिक ने लॉर्ड मैकाले
की अध्यक्षता में एक विधि आयोग का भी गठन किया था।

Þ  
लॉर्ड विलियम बैटिंगने मां काली की
अध्यक्षता में 1 शिक्षा से संबंधित आयोग का गठन किया जिसका माध्यम अंग्रेजी बनाया
गया

Þ  
लॉर्ड विलियम बेंटिक के काल में भारत
का पहला मेडिकल कॉलेज की स्थापना कोलकाता में और पहला इंजीनियरिंग कॉलेज रुड़की
में स्थापित किया गया

 

 सर चार्ल्स मेटकाफ़ (1835-1836)

Þ  
इन्हें भारतीय प्रेस का मुक्तिदाता
के नाम से जाना जाता है

 

लॉर्ड
ऑकलैंड (1836-1842)

Þ  
इन ही के काल में शेरशाह सूरी के
द्वारा निर्मित सड़क का पूर्ण निर्माण करते हुए दिल्ली से कोलकाता के बीच को
ग्रैंड ट्रंक रोड (
GT ROAD) का नाम दिया गया

Þ  
पहला अफगान युद्ध (1838-42)

 

 लॉर्ड
एलनवरो (1842
1844)

Þ  
एलनवरो के काल में चार्ल्स नेपियर के
नेतृत्व में अंग्रेजी साम्राज्य में सिंध का विलय कर दिया गएलनवर

 

लॉर्ड
हार्डिंग
I (1844-1848)

Þ  
पहला आंग्ल-सिख युद्ध (1845-46)

Þ  
लाहौर की संधि (1846)

Þ  
कन्या भ्रूण हत्या का उन्मूलन जैसे
सामाजिक सुधार

 

लॉर्ड
डलहौजी (1848-1856)

Þ  
लॉर्ड डलहौजी के शासनकाल मैं भारत
में पहली बार मुंबई से थाने के बीच 16 अप्रैल 1853 को ट्रेन चलाई गई थी।

Þ  
1854 ईस्वी में पोस्ट ऑफिस एक्ट
पारित किया गया

Þ  
औद्योगीकरण का जन्मदाता लॉर्ड डलहौजी
को माना जाता है

Þ  
इनके काल में ही 1854 ईस्वी में पहला
सफल सूती वस्त्र उद्योग मुंबई में एवं पहला जूट उद्योग 1855 ईस्वी में कोलकाता में
स्थापित किया गया

Þ  
इन्हीं के शासनकाल में 1854 ईस्वी
में शिक्षा से संबंधित वुड
डिस्पैच पारित किया गया जिसे भारतीय
शिक्षा का मैग्नाकार्टा की संज्ञा दिया गया

Þ  
लॉर्ड डलहौजी के शासनकाल में1853
ईसवी में एक अधिनियम पारित किया गया जिसमें सिविल सेवक की भर्ती के लिए खुली
प्रतियोगिता परीक्षा आयोजन करने की बात कही गई।

Þ  
लॉर्ड डलहौजी की हड़प नीति के
सिद्धांत के तहत 1848 इसवी में महाराष्ट्र के सतारा को सबसे पहले ब्रिटिश
साम्राज्य में शामिल किया गया

Þ  
दूसरा आंग्ल-सिख युद्ध (1848-49)

Þ  
लोक निर्माण विभाग (PWD) की
स्थापना

——————————————————————————————————

IF YOU WANT TO LEARN OTHER SUBJECT’S OR CURRENT AFFAIRS SO GO ON BELOW LINK:—

Important Governor-General and Viceroy of India

11 May Current Affairs

 IMPORTANT DAY’S IN MAY MONTH 2021

—————————————————————————————————————————-

THIS IS ALSO  OUR YOUTUBE CHANNEL HERE YOU CAN LEARN THESE TYPES OF TOPICS IN A VERY EASY WAY SO CLICK BELOW LINK’S:-

STUDY JOKER

LINK:- https://youtu.be/xt4Ckio4n_4

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments